Total Pageviews

Friday, June 17, 2011

राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान-राजस्थान के परिपेक्ष्य में



राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1986 का एक मुख्य बिन्दु माध्यमिक स्तर की शिक्षा में बालिकाओं व समाज के पिछड़े वर्गों की सहभागिता बढ़ाना । इसी उद्देश्य का ध्यान में रख कर माननीय प्रधानमंत्री महोदय द्वारा अपने स्वतंत्रता दिवस 2007 के भाषण में success नाम से एक नई योजना प्रारंभ करने की घोषणा की गई थी । इस योजना को अब राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के नाम से जाना जाता है । राजस्थान में इस अभियान की क्रियान्विती हेतु राजस्थान माध्यमिक शिक्षा परिषद् का गठन किया गया है । यह परिषद् राजस्थान राज्य में इस राष्ट्रीय कार्यक्रम की गतिविधियों को संचालित करने, मोनिटरिंग करने तथा अन्य सभी वैधानिक औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए कार्य कर रही है । इस परिषद का गठन, राजस्थान में रजिस्ट्रार संस्थाऐं, जयपुर के रजिस्ट्रेशन संख्या 492/जयपुर/2009 दिनांक 03.09.2009 को हुआ । परिषद के संचालन हेतु राज्य स्तरीय शाषी परिषद (GC) एवं निष्पादक समिति (EC) गठन किया है ।

राज्य स्तरीय शाषी परिषद् में कुल 25 सदस्य हैं, इनमें से 17 पदेन सदस्य तथा शेष मनोनीत सदस्य है । शाषी परिषद के अध्यक्ष माननीय मुख्यमंत्री महोदय हैं तथा माननीय शिक्षा मंत्री महोदय एवं राज्य के मुख्य सचिव महोदय उपाध्यक्ष है । शाषी परिषद् में राज्य परियोजना निदेशक, सदस्य सचिव के रूप में है ।

राज्य स्तरीय निष्पादक समिति के द्वारा राज्य में परिषद् के कार्यों का निष्पादन राज्य स्तर पर किया जाता है । इस समिति में कुल 33 सदस्य है । इनमें 19 पदेन सदस्य तथा शेष मनोनीत सदस्य हैं । इस समिति के अध्यक्ष प्रमुख शासन सचिव महोदय, स्कूल एवं संस्कृत शिक्षा तथा पदेन सदस्य सचिव, राज्य परियोजना निदेशक है ।

राजस्थान राज्य में जिला स्तर पर भी इसी तरह शाषी परिषद जिला स्तरीय एवं निष्पादक समिति के गठन का प्रावधान किया गया है । राज्य में जिला स्तर पर राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के सुगम संचालन एवं मॉनिटरिंग के लिए इन समितियों के गठन का प्रस्ताव है । जिला स्तरीय शाष परिषद में कुल 17 सदस्य है । इनमें से 6 पदेन सदस्य एवं शेष मनोनीत सदस्य है। । इसी प्रकार जिला स्तरीय निष्पादक समिति में कुल 17 सदस्य होंगे । इनमें 10 पदेन सदस्य व शेष मनोनीत सदस्य होंगे । वर्तमान जिला स्तरीय दोनों समितियों का गठन प्रस्तावित है । राजस्थान माध्यमिक शिक्षा परिषद् का राज्य स्तरीय कार्यालय डॉ. राधाकृष्णन शिक्षा संकुल, ब्लॉक 6, जयपुर में स्थित है ।
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा परिषद के अन्तर्गत वर्तमान में निम्न 3 गतिविधियां संचालित हो रही है -

1. राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान

2. बालिका छात्रावास

3. मॉडल स्कूल

राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के उद्देश्य -

1. माध्यमिक शिक्षा का सार्वजनीकरण ।

2. प्रत्येक बस्ती के 5 किलोमीटर की दूरी में माध्यमिक स्तर की विद्यालय तथा 7 से 10 किलोमीटर की दूरी में उच्च माध्यमिक स्तर की विद्यालया की सुविधा उपलब्ध करवाना ।

3. सन् 2017 तक माध्यमिक शिक्षा कें नामांकन को 100 प्रतिशत के लक्ष्य तक पहुंचाना ।

4. माध्यमिक स्तर पर 100 प्रतिशत ठहराव के लक्ष्य को सन् 2020 तक प्राप्त करना ।

5. समाज के पिछड़े वर्गों (यथा अनुसूचित जाति, जन जाति, अन्य पिछड़ा वर्ग व शैक्षिक दृष्टि से पिछड़े अल्पसंख्यक), बालिकाओं व विशेष आवश्यक वाले विद्यार्थियों तक गुणवत्तापूर्ण माध्यमिक शिक्षा की सुविधा उपलब्ध करवाना ।

राजस्थान में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अन्तर्गत अब तक की उपलब्धियां -

राजस्थान में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अन्तर्गत वर्ष 2009-10 में केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा लगभग 21.5 करोड रूपये उपलब्ध करवाये गये हैं जिनके द्वारा 6325 माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में बिजली-पानी, पुस्तकालय हेतु पस्तकों व पत्र-पत्रिकाओं का क्रय, खेलकूद सामग्री का क्रय, प्रयोगशालाओं हेतु उपकरणों का क्रय व भवनों की छोटी-मोटी टूट-फूट की मरम्मत करवाना आदि कार्य सम्पन्न करवाये गये हैं । इसी प्रकार उक्त राशि में से लगभग 92 लाख रूपये का उपयोग माध्यमिक कक्षाओं का गणित, विज्ञान व अंग्रेजी पढ़ाने वाले वरिष्ठ अध्यापकों को अपने विषय के कठिन बिन्दुओं को पढ़ाने की नवीनतम विधियों को अपनाने का प्रशिक्षण देने में किया गया ।

प्रस्तुति - पल्लव मुखर्जी
आर.एम.एस.ए. प्रकोष्ठ प्रभारी

1 comment:

  1. sir ramsa ki jankari achhi lagi. adhik jankari dene ka kast kare.

    ReplyDelete