Total Pageviews

Sunday, June 5, 2011

शिक्षा विभाग राजस्थान द्वारा बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन देने के लिए चलाई जा रही कुछ योजनाए

साईकिल वितरण:
राजस्थान सरकार द्वारा बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन देने के लिए चलाई के लिए चलाई जा रही ये योजना अत्यंत उपयोगी योजना है| इस योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्र में स्थाई रुप से निवास करने वाली एवं कक्षा 9 उतीर्ण कर कक्षा 10 में राजकीय विद्यालयो में प्रवेश लेने वाली छात्राओं को ही साईकिल दे जाती है |यह योजना वर्ष २००७-०८ से शुरू की गई है | इस योजना में छात्राओं द्वारा 300 रुपये प्रति छात्रा लाभार्थी अंशदान सम्मिलित कर साईकिल की शेष राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जाती है।इस योजना के लिए आवश्यक है की छात्रा का निवास स्थान से विद्यालय की दूरी 2 किमी से कम न हो तथा 5 किमी से अधिक नहीं हो | २००९ -१० में ४१०५३ छात्राओ का इस योजना का लाभ मिला |

ट्रांस्पोर्ट वाउचर स्कीमः
बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन देने के लिए चलाई के लिए चलाई जा रही इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र की कक्षा 9 से 12 तक राजकीय माध्यमिक/उच्च माध्यमिक विद्यालय में अध्ययनरत प्रत्येक छात्रा के निवास स्थान से विद्यालय की दूरी 5 किलोमीटर से अधिक होने पर एकल अथवा समूह के रुप में परिवहन की सुविधा प्रदान करने के लिए ट्रांसपोर्ट वाउचर स्कीम प्रारम्भ है जिसके अन्तर्गत 5 रुपये प्रति विद्यालय दिवस प्रति छात्रा टांस्पोर्ट वाउचर दिया जाता है। यह योजना वर्ष २००७-०८ से शुरू की गई है | २००९ -१० में ३०३४३ छात्राओ का इस योजना का लाभ मिला |

छात्राओं के लिए एफ.डी.आर. -
बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन देने के लिए चलाई के लिए चलाई जा रहीइस योजना में कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की छात्राओं को 8वीं उत्तीर्ण करने पर एफ.डी.आर. दिये जाने की योजना सत्र 2007-08 से प्रारंभ की गई | इस योजना के अंतर्गत निम्नानुसार ऍफ़. डी .आर . देने का प्रावधान है
कक्षा 8वीं उत्तीर्ण कर 9वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर 2000/- { 7 वर्ष} ,कक्षा 10वीं उत्तीर्ण कर 11वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर 2000/- {5 वर्ष} और कक्षा 12वीं उत्तीर्ण कर स्नातक में प्रवेश लेने पर 4000/-{ 3 वर्ष}
परन्तु राज्य सरकार के पत्रांक प1(14)शिक्षा-1/2008 दिनांक 22.07.2008 के अनुसार केन्द्र सरकार द्वारा केन्द्र प्रवर्तित योजनान्तर्गत नवीन योजना ‘‘नेशनल स्कीम ऑफ इन्सेन्टिव टू गर्ल्स फॉर सैकेण्डरी एजूकेशन‘‘ प्रारम्भ की जा चुकी है। इस योजनान्तर्गत कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों की छात्राओं के साथ-साथ अनुसूचित जाति/ जनजाति की छात्राओं को भी 8वीं उत्तीर्ण कर 9वीं में प्रवेश लेने पर 3000/- रुपये की एफ.डी.आर. करवाकर लाभान्वित किया जाना है। अतः 8वीं उत्तीर्ण करने पर अब रुपये 2000/- के स्थान पर रुपये 3000/- की एफ.डी.आर. केन्द्र सरकार द्वारा करवाई जावेगी एवं शेष 10 वीं एवं 12वीं उत्तीर्ण छात्राओं को पूर्ववत् सरकार एफ.डी.आर. से लाभान्वित करती रहेगी।
इन सब योजनाओ के अलावा माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा बालिका शिक्षा को प्रोत्साहन देने के लिए कुछ और भी प्रयास किए जा रहे हैं जैसे राजकीय माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कक्षा 9 से 12 में अध्ययनरतसभी छात्र-छात्राओं को शिक्षण शुल्क नहीं लिया जाता ,1 से 12 तक की राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत समस्त बालिकाओं को निःशुल्क पाठ्यपुस्तकों का वितरण किया जाता है |
प्रस्तुति -प्रमोद कुमार चमोली
प्रमोद कुमार चमोली

No comments:

Post a Comment